Constipation (कब्ज) से हो परेशान, कारण, लक्षण और घरेलू उपचार जानिएं

 

कब्ज पाचन की एक आम समस्या है जो लगभग लगभग सभी उम्र के लोगों को परेशान करती है। कम मल त्याग, मल त्यागते समय कठिनाई होना, और कठोर या शुष्क मल ये सब कब्ज़ को पहचानने के कुछ लक्षण है।

आईये जानते है कब्ज के कारण, लक्षण और उपचार:

कब्ज (constipation) के कारण:

खाने में रेशे अथवा फाइबर की कमी:

फाइबर पाचन तंत्र में पचे हुए खाने को आपस में जोड़ता है, जो पचे हुए भोजन को पाचन तंत्र में आगे बढ़ने में मदद करता है। यदि आहार में फाइबर  संतुलित रूप से आवश्यकतानुसार कम हो तो कब्ज की समस्या हो सकती है।

तरल पदार्थ का कम सेवन:

पर्याप्त मात्रा में पानी या अन्य तरल पदार्थ नहीं पीने से शरीर में पानी की मात्रा कम हो जाती है जिसे सामान्य भाषा में निर्जलीकरण कहते है। पानी की कमी की वजह से कठोर, सूखा मल निकलता है जो त्यागने में मुश्किल हो सकता है।

आरामदायक जीवन शैली

आरामदायक जीवन शैली, शारीरिक गतिविधि की कमी और लंबे समय तक निष्क्रिय रहने से पाचन क्रिया धीमी हो सकती है जिसके कारण कब्ज हो सकता है।

मल त्याग करने के समय को अनायास ही लम्बा करना

मल त्याग करने के समय को अनायास ही लम्बा करना अथवा मल त्यागने की इच्छा को अनदेखा करने से मल बहुत लंबे समय तक पाचन तंत्र में रहने से कठोर सकता है, जिस से कब्ज हो सकता है।

दिनचर्या या आहार में परिवर्तन

यात्रा के दौरान, दैनिक दिनचर्या और आहार में बदलाव सामान्य पाचन प्रक्रिया को बाधित कर सकते हैं, जिसके कारण कब्ज हो सकता है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था के दौरान शरीर के हार्मोन में होने वाले परिवर्तन पाचन क्रिया को धीमा कर सकते हैं, जो कब्ज का एक कारण हो सकता है।

बीमारी की दशा में 

हाइपोथायरायडिज्म, मधुमेह, और स्क्लेरोसिस जैसी कुछ बीमारियां, पाचन तंत्र को धीमा कर देती है जिस से कब्ज हो जाता हैं।

कुछ मेडिसिन्स 

कुछ दवाएं, जैसे एंटासिड, ओपिओइड और आयरन सप्लीमेंट कब्ज पैदा कर सकते हैं।

 

कब्ज (constipation) के मुख्य: लक्षण

मल त्याग में कमी  (प्रति सप्ताह तीन बार से कम)

मल का त्याग करने में कठिनाई

मल त्याग के दौरान तनाव

सख्त, सूखा और कठोर मल 

पेट में दर्द और थोड़ा सूजन

बार-बार गैस का बन जाना 

मलाशय में रुकावट जैसा महसूस करना 

 

कब्ज (constipation) का इलाज:

सर्वप्रथम कब्ज़ के कारण  की पहचान करे और उसी अनुसार निदान का प्रयास करे। नीचे कुछ इलाज़ सुझाये गए है, अत:  इनमे से जो आपके लिए सर्वश्रेठ हो चुनाव करे। 

खाने में अधिक रेशे/फाइबर को शामिल करें

आहार में अधिक फाइबर खाने से मल को नरम करने में मदद मिलती है, जिससे मल त्यागना आसान हो जाता है। आहार में फल, सब्जियां, साबुत अनाज और फलियां शामिल करे क्योकि ये सब फाइबर के अच्छे स्रोतों में से एक हैं।

अधिक पानी का सेवन करें 

निर्जलीकरण या पानी की कमी से कब्ज हो सकता है, इसलिए यह आप दिन भर में जितना हो सके ढेर सारा पानी पिएं।

 

नियमित रूप से व्यायाम करें

नियमित शारीरिक गतिविधि अथवा दैनिक रूप से व्यायाम पाचन तंत्र को उत्तेजित करके नियमित मल त्याग को बढ़ावा देते है।

कॉफी का सेवन करे 

कैफीन पाचन तंत्र की मांसपेशियों को उत्तेजित कर देते है और बड़ी आंत के माध्यम से मल का त्याग करने में मदद करता है।

प्राकृतिक जुलाब ले 

कुछ प्राकृतिक जुलाब, जैसे अलसी और एलोवेरा कब्ज से राहत दिलाने में मददगार साबित हो सकते हैं।

मल त्यागने की अच्छी आदतों को बढ़ावा दे 

मल त्याग करने की इच्छा पर तुरंत जाना चाहिए और मल त्यागते समय तनाव से मुक्त रहने की कोशिश करनी चाहिए। यह ध्यान रखना बहुत ही महत्वपूर्ण है कि यदि कब्ज अधिक और गंभीर है या लंबे समय तक बनी रहती है, तो किसी भी आतंरिक स्थितियों या जटिलताओं को दूर करने के लिए लेडीज होम हमारे पाठको को चिकित्सकीय परामर्श लेने की सलाह देता है। 

यह भी पढ़े: पाचन शक्ति बढ़ाने से लेकर कैंसर से लड़ने तक उपयोगी है बेर, जानिये बेर के फायदे, मगर ये लोग बेर खाने से रहे दूर

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई गयी समस्त विधि, तरीक़ों व दावों को केवल सुझाव के रूप में लें, लेडीज होम इनकी पुष्टि नहीं करता है। हमारी पाठको को सलाह है की हमारी किसी भी उपचार/दवा/डाइट और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। 

टैग :  मनोरंजनसेहतघरेलू नुस्खे, जानकारी